m4

Manipur Violence :मणिपुर में हिंसा तो थम गई है, लेकिन तनाव बरकरार है. जो शहर तीन दिन और तीन रात हिंसा की आग में झुलसते रहे हैं, वहां अब राख बिखरी है. सबसे बुरी स्थिति उन शिविरों में है, जहां इस हालात से बचाए गए लोग तत्काल राहत के लिए लाए गए थे. आंसू सूखी आंखों में केवल एक ही सवाल आखिर हमारी गलती क्या थी?

Manipur Violence
Manipur Violence

मणिपुर पिछले कुछ दिनों से मैतेई समुदाय को ST का दर्जा दिए जाने की मांग के विरोध में सुलग रहा है. अब हालात सामान्य होने लगे हैं. एक मीडिया रिपोर्ट में (Manipur Violence ) सूत्रों के हवाले से दावा किया है कि हिंसा से 54 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि करीब 100 लोग जख्मी हुए. यहां लोगों को हिंसाग्रस्त इलाकों से निकाला जा रहा है. मणिपुर में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए एयर इंडिया ने विशेष उड़ानें शुरू की हैं. एयर इंडिया ने 6 और 7 मई को इंफाल से उड़ानें शुरू की हैं. Manipur Police

Manipur Violence
Manipur Violence

अफवाह थी कि एक ट्रक में प्रदर्शनकारी कुछ प्लान कर रहे हैं. इंटरनल सिक्यूरिटी कॉलम (बल) ने तुरंत इस पर कार्रवाई की. एक संदिग्ध ट्रक को जिरिबाम-तमेंगलोंग सीमा पर रोका गया, जिसमें 51 स्थानीय लोग छिपे हुए थे. उनकी जांच में सामने आया कि वह नागरिक दिहाड़ी मजदूर और असम के निवासी थे, जो मणिपुर में काम कर रहे थे और तनावपूर्ण सुरक्षा स्थिति से बचने की कोशिश कर रहे थे. सभी निर्दोष नागरिकों को असम राइफल्स के जवानों द्वारा सुरक्षित रूप से कछार पहुंचाया गया.

मणिपुर हिंसा के चार महीने : 175 लोग मारे गए, 1108 घायल व 32 लापता

Manipur Violence
Manipur Violence

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *